मोदी की मेरठ रैली से शुरू हुआ सियारी संग्राम

मोदी की मेरठ रैली से शुरू हुआ सियारी संग्राम 1

पीएम मोदी ने गुरुवार को यूपी के मेरठ और उत्तराखंड के रुद्रपुर में रैलियों के जरिए अपने चुनावी अभियान का शंखनाद कर दिया और इसी के साथ 2019 के सियासी ‘महासंग्राम’ का भी आगाज हो गया। पीएम मोदी ने एक तरफ जहां मेरठ रैली में यूपी में महागठबंधन की तुलना शराब से की और कांग्रेस के न्यूनतम आय के वादे पर तंज कसा तो दूसरी तरफ कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने भी उन पर पलटवार किया। कांग्रेस ने पीएम मोदी से गरीबों का मजाक उड़ाने के लिए माफी की मांग की, तो वहीं अखिलेश यादव ने यह कहकर मोदी पर हमला बोला कि नफरत को बढ़ावा देने वालों को सराब और शराब का अंतर तक नहीं पता।

पीएम मोदी ने पश्चिमी यूपी में चुनाव अभियान का आगाज करते हुए विपक्ष पर तीखा हमला बोला। गरीबों के लिए न्यूनतम आय योजना के कांग्रेस के वादे पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा कि जो गरीबों का खाता तक नहीं खुलवा सकें, वे पैसे क्या देंगे। बाद में रुद्रपुर की रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर सेना और जवानों के पराक्रम के अपमान का आरोप लगाया। बालाकोट एयरस्ट्राइक का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने विपक्ष पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘जब हम आतंकवादियों के घर में घुसते हैं और उन्हें मारते हैं तो क्या हमारे जवानों के पराक्रम पर सवाल उठाना सही है? क्या हमारे आर्मी चीफ को गाली देना सही है? क्या जनता उनलोगों को माफ कर देगी जिन्होंने सिर्फ इस लिए देशविरोधी बयान दिए कि वे पाकिस्तान में हीरो बन जाएं।’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि गाली-गलौज, ढोंग, स्वांग, ड्रामा उनकी आदत बन गई है, लेकिन उन्हें गरीबों के लिए NYAY योजना का मजाक उड़ाने से बाज आना चाहिए। पीएम मोदी को अहंकार के नशे के चूर बताते हुए सुरजेवाला ने कहा, ‘आप प्रपंच मंत्री ज्यादा, प्रधानमंत्री कम हैं। फ्लॉप फिल्म के ऐक्टर ज्यादा हैं, प्रधानमंत्री कम हैं। अहंकार के नशे में चूर हो गए हैं। हमें पता है कि आपको राहुल गांधी और कांग्रेस के सपने आते हैं। पसीना पोछते-पोछते, घबराते-घबराते, क्रोधित होते-होते आपने 5 वर्ष गुजार दिए। किया कुछ नहीं, सिर्फ बोला।’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि विपक्ष पर छींटाकशी कीजिए लेकिन गरीबों का मजाक तो मत उड़ाइए। सुरजेवाला ने कहा, ‘हम जानते हैं कि आपको कांग्रेस का भय सताता है लेकिन आपको जनता की आह का भय सताना चाहिए। हम पर छींटाकशी कीजिए चलेगा, लेकिन गरीबों के लिए NYAY योजना का ताली पीट-पीटकर मजाक मत उड़ाइए।’ आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वादा किया है कि अगर उनकी पार्टी की सरकार बनती है तो वह देश के गरीब परिवारों को न्यूनतम आय योजना के तहत सालाना 72,000 रुपये देंगे।

एसपी, बीएसपी और आरएलडी के गठबंधन को ‘शराब’ बताए जाने की आलोचना करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मोदीजी ने पूरे देश का अपमान किया है। मर्यादाओं का उल्लंघन किया है। तीन विपक्षी दलों एसपी, बीएसपी और आरएलडी को शराब बताया है। क्या ऐसे शब्द किसी प्रधानमंत्री के लिए शोभा देते हैं।’ बता दें कि मोदी ने मेरठ रैली में महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा, ‘समाजवादी पार्टी के ‘स, आरएलडी के ‘र’ और बहुजन समाज पार्टी के ‘ब’ से मिलकर शराब बनता है, जो सेहत के लिए हानिकारक है।’

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी एसपी, आरएलडी और बीएसपी के महागठबंधन की तुलना शराब से किए जाने पर पीएम मोदी पर पलटवार किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आज इसकी पोल खुल गई है कि नफरत के नशे को बढ़ावा देने वालों को सराब और शराब का अंतर तक नहीं पता।