चंद्रग्रहण 2019: सूतक काल में बंद रहेंगे चार धाम के कपाट

सूतक काल में चार धाम के कपाट बंद रहेंगे। गुरु पूर्णिमा के अवसर पर 16 जुलाई शाम से 17 जुलाई की सुबह तक चंद्रग्रहण सूतक के चलते चारों धामों के कपाट बंद रहेंगे।

बद्रीनाथ केदारनाथ धाम में कपाट मंदिर समिति के अनुसार 16 जुलाई को अपराह्न 4:25 मिनट पर बंद हो जाएंगे। बदरी-केदार मंदिर समिति के कार्याधिकारी एनपी जमलोकी एवं मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि इसके लिए अपराह्न 3:15 मिनट पर मंगल आरती होगी। 3:45 बजे भोग और शयन आरती होगी। सूतक काल में सभी प्रकार के दर्शन बंद रहेंगे। बुधवार 17 जुलाई को रात 1:31 से सुबह 4:31 मिनट तक 3 घंटे का चंद्रग्रहण है। 17 जुलाई को सुबह 4:40 बजे बदरीनाथ धाम की घंटी बजेगी। सुबह 6 बजे अभिषेक पूजा होगी। बाकि पूजा यथावत चलेगी।

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवनचन्द्र उनियाल ने बताया कि ग्रहणकाल से 9 घंटे पहले सूतक काल माना जाता है। चन्द्रग्रहण में बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में सूतक के चलते कपाट बंद और खुलने की एक ही प्रक्रिया अपनाई जाएगी। 17 जुलाई को चन्द्रग्रहण खत्म होने के बाद सुबह बदरी-केदार धाम के कपाट भक्तों के दर्शनार्थ खोले जाएंगे। सूतक के चलते बदरी-केदार मंदिर समिति के अधीन आने वाले सभी मंदिर बंद रहेंगे