सुंदरगढ़ में बीजेडी और कांग्रेस पर बरसे PM मोदी, कहा- ओडिशा में कमल खिलना तय

सुंदरगढ़, ओडिशा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओडिशा के सुंदरगढ़ में एक चुनावी सभा में राज्य की बीजेडी और कांग्रेस पर हमला बोला। राज्य के सीएम नवीन पटनायक सरकार पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा कि ओडिशा में सबकुछ है, संपदा है, संसाधन है लेकिन बीजेडी की नीति और नीयत ठीक नहीं है। उन्होंने पटनायक सरकार पर ओडिशा के विकास की राह में रोड़ा अटकाने का आरोप लगाया। मोदी ने कहा कि ओडिशा में कमल खिलना तय है, यह यहां की जनता ने तय किया है। कोई 5 साल पहले यह कल्पना भी नहीं कर सकता था कि यहां बीजेपी का डंका बजेगा। कांग्रेस पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश का चौकीदार आतंकी ठिकानों पर स्ट्राइक करता है लेकिन दूसरी तरफ कांग्रेस जवानों के विशेष अधिकार छीनने में जुटी है।
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मुझे किसी ने बताया कि पहली बार देश का कोई प्रधानमंत्री सुंदरगढ़ आया है। मैंने उन्हें बीच में ही टोक दिया। मैंने कहा कि सुंदरगढ़ में आज भी कोई प्रधानमंत्री नहीं आया है। आज ओडिशा का प्रधानसेवक अपने मालिकों से आशीर्वाद लेने आया है।’ ओडिशा की जनता को नवरात्र की शुभकामनाएं देते हुए मोदी ने कहा, ‘2019 का यह चुनाव ओडिशा और देश के भविष्य के लिए बहुत अहम है। आप सभी को राज्य और केंद्र में कैसी सरकार चाहिए, उसका फैसला करना है। आपको फैसला करना है कि ईमानदार सरकार चाहिए या भ्रष्ट और फैसले टालने वाली सरकार चाहिए। हर वर्ग का विकास करने वाली सरकार चाहिए या वंशवाद और भाई-भतीजावाद वाली सरकार चाहिए। पिछले 19 वर्षों से ओडिशा में बीजेडी की सरकार। आपके सामने बीजेपी सरकार का कामकाज भी है।’ बता दें कि ओडिशा में लोकसभा के साथ-साथ विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

पीएम मोदी ने कहा, ‘अटलजी ने कहा था- अंधेरा छटेगा, सूरज निकलेगा, कमल खिलेगा। आज जब मैं ओडिशा की धरती पर आया हूं तो मैं भी देख रहा हूं कि ओडिशा में कमल खिलना तय है, यह यहां की जनता ने तय किया है। कोई 5 साल पहले यह कल्पना भी नहीं कर सकता था कि यहां बीजेपी का डंका बजेगा। हमारे सफर में, बीजेपी की विचार यात्रा में, विकास यात्रा में दीनदयाल उपाध्याय, कुशाभाऊ ठाकरे, अटल बिहारी वाजपेयी जी, आडवाणी जी, मुरली मनोहर जोशी जैसे अनेक कार्यकर्ताओं के निर्देशन ने पार्टी को बनाया। आज की पीढ़ी भी पूरी ताकत से लगी हुई है। मैं बीजेपी के 11 करोड़ से ज्यादा सदस्यों को पार्टी के स्थापना दिवस पर नमन करता हूं, उनके संकल्प को नमन करता हूं।’

पड़ोसी राज्य झारखंड में बीजेपी सरकार के कामकाज की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने ओडिशा की पटनायक सरकार पर हमला बोला। पीएम ने कहा, ‘आज झारखंड के युवाओं को पलायन के लिए मजबूर नहीं होना पड़ रहा है, उन्हें राज्य में ही काम मिल रहा है। आपको विकास चाहिए या भेदभाव चाहिए? ओडिशा गरीब नहीं है, यहां संपदा भी है, संसाधन भी है और संकल्प को पूरा करने वाली जनता-जनार्दन भी है, कमी है तो बस सही नीति और नीयत की। बीजेडी की नीयत सही रहती तो किसानों को डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलता, जो हमने तय किया है। नीयत सही रहती तो आयुष्मान भारत के तहत यहां के गरीबों को 5 लाख तक का मुफ्त इलाज मिलता। बीजेडी की नीयत सही रहती तो ओडिशा में अबतक हमने 8 लाख पक्के घर दिए हैं, यह आंकड़ा और बढ़ा होता। बीजेडी की नीयत सही रहती तो केंद्र से मिले पैसों को सही से खर्च करती, उसपर ताला लगाकर नहीं बैठती। लेकिन बीजेडी आपके विकास पर रोक लगाकर बैठ गई है। क्या ऐसी पार्टी को सजा नहीं मिलनी चाहिए, विदाई नहीं होनी चाहिए, ओडिशा के विकास के लिए नई तेजतर्रार सरकार की जरूरत है या नहीं? चौकीदार की नीति भी स्पष्ट है और नीयत भी। कांग्रेस की सरकार भी रही, बीजेडी की सरकार भी रही लेकिन बेटियों की सुरक्षा और सम्मान की उन्हें चिंता नहीं रही। हमारी नेक नीयत है तभी तो स्कूलों में बेटियों को अलग शौचालय, घर-घर में इज्जत घर दिया, उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिया।’

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर पिछड़ो और ट्राइबल को महज वोटबैंक के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस पर नक्सलियों के संरक्षण का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस की नीति लोगों को जाति-पाति के जंजाल में उलझाए रखने की है। इसी वजह से ओडिशा में कांग्रेस साफ हो रही है। आपका चौकीदार आतंकियों, नक्सलियों और माओवादियों के सफाये में जुटा है और कांग्रेस इन्हें संरक्षण देने में जुटी है। आपका चौकीदार आतंकियों पर स्ट्राइक करता है और कांग्रेस हमारे जवानों के विशेष अधिकारों को छीनने में जुटी है।’

बीजेपी के स्थापना दिवस पर कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आज ही बीजेपी का स्थापना दिवस भी है। 39 वर्ष पहले आज ही के दिन सबसे बड़े राजनीतिक संगठन यानी हम सबके दिलों में बसी बीजेपी का गठन हुआ था। बीजेपी इसलिए विशेष है कि यह पार्टी न दलबदल से बनी है न बाहुबल से बनी है और न ही बाहर से उधार ली गई किसी विचारधारा से बनी है। भारत की मिट्टी की सुगंध के साथ उपजी है। भारत की सभ्यता और संस्कृति में रची-बसी है। हम परिवार पर आधारित नहीं हैं, न ही पैसों पर आधारित हैं। कई पार्टियां पैसे से बनी हैं, यह पार्टी कार्यकर्ताओं के पसीने से बनी है।’

पीएम मोदी ने कहा, जेपी आंदोलन के दौरान जनसंघ के रूप में लोकतंत्र की रक्षा के लिए आपातकाल के दौरान युवाशक्ति के तौर पर बीजेपी ने कांग्रेस की तानाशाही के खिलाफ लोकतंत्र बचाने के लिए काम किया। हमारे नेता जेलों में रहें। मुझे याद है, मैं तो छोटा सा कार्यकर्ता था लेकिन देखा था कि अनेक कार्यकर्ता छोटे-छोटे बच्चों को लेकर महीनों जेल में गुजारी। आए दिन बंगाल में हमारे कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार दिया जाता है। जहां आतंकवाद है, वहां बीजेपी कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार दिया गया। इसके बाद भी बीजेपी के कार्यकर्ता भारत माता की जय का नारा लगाते रहते हैं। अपने एक लंबे सफर में अनेक बार बीजेपी के मनोबल को तोड़ने की तरह-तरह की कोशिश की गई, लेकिन बीजेपी कार्यकर्ताओं का मनोबल कोई डिगा नहीं पाया।’ उनका इशारा केरल और पश्चिम बंगाल में बीजेपी के खिलाफ राजनीतिक हिंसा और कश्मीर घाटी से पंडितों के पलायन की तरफ था। पीएम मोदी ने कहा, ‘आज नॉर्थ-ईस्ट से लेकर भारत के हर कोने में बीजेपी का परचम लहरा रहा है। आज बीजेपी दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक संगठन है। बीजेपी युवा भारत की पार्टी है, आकांक्षी भारत की पार्टी है, जिससे किसान, नौजवान, महिलाएं जुड़ रही हैं। अगर भारत में किसी दल ने विकास को मुख्य मुद्दा बनाया और उसे जनांदोलन बनाया तो वह भारतीय जनता पार्टी है।

सीमा पार आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने केंद्र में कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘बीते 5 वर्षों में हमने देश को दिखाया है कि जब कांग्रेस कल्चर से मुक्त पूर्ण बहुमत की सरकार चलती है तो उसका मतलब क्या होता है। भारत अब आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारता है। आतंकियों को ऐसा ही जवाब देना चाहिए या नहीं देना चाहिए? सरकारें पहले भी थी लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक सोच ही नहीं पाती थी। सरकारें पहले ही थीं लेकिन दूसरे देश में आतंकी ठिकानों को खत्म करने का साहस नहीं था। आप बताइए देश मजबूत होना चाहिए या नहीं, मजबूत भारत के लिए मजबूत बीजेपी होनी चाहिए कि नहीं, मजबूत भारत के लिए मजबूत सरकार, मजबूत ओडिशा होना चाहिए कि नहीं होना चाहिए? मजबूत ओडिशा के लिए कमल खिलना चाहिए कि नहीं खिलना चाहिए? मजबूत सरकार ही गरीबी, अशिक्षा जैसे मुद्दों पर मजबूती से काम कर सकती है। ओडिशा और भारत को मजबूत सरकार की ही जरूरत है। सरकार ऐसी होनी चाहिए जो सबका साथ, सबका विकास मंत्र पर चलने वाली हो न कि जाति, संप्रदाय और क्षेत्र के आधार पर भेदभाव करने वाली हो। क्षेत्र के आधार पर भेदभाव से देश का पूर्वी हिस्सा विकास की रोशनी से दूर रहा। हमारी सरकार ने पूरे पूर्वी भारत को विकास का इंजन बनाने का बेड़ा उठाया है। सबको सुरक्षा, समृद्धि और सम्मान देना हमारा संकल्प है।’